अरेस्ट हो गए ‘Jack Ma’? एक खबर से Alibaba के 2 लाख करोड़ स्वाहा

[ad_1]

अलीबाबा के फाउंडर जैक मा साल 2020 से चीन की सरकार के निशाने पर हैं. उसके बाद से जैक मा को लंबे समय तक किसी ने सार्वजनिक नहीं देखा था. बाद में दो-चार मौकों पर ही उन्हें सार्वजनिक देखा गया.

कभी सुर्खियों में रहने वाले चाइनीज बिलियनेयर बिजनेसमैन जैक मा (Chinese Billionaire Jack Ma) इन दिनों सार्वजनिक कम ही दिखाई देते हैं. चीन की सरकार (Chinese Govt) से कुछ मतभेद के बाद जैक मा बीच में कुछ समय गायब रहने के बाद दो-चार मौकों पर ही सार्वजनिक देखे गए. इस कारण जैक मा के गायब होने की खबरें सामने आने लगी थीं. अब एक खबर से उनके अरेस्ट होने के कयास लगने लगे, जिससे उनकी कंपनी अलीबाबा (Alibaba) को भारी नुकसान हो गया. जैक मा के अरेस्ट होने के कयासों ने इन्वेस्टर्स को डरा दिया और वे अलीबाबा के शेयर बेचने लग गए. देखते-देखते अलीबाबा के शेयर धड़ाम हो गए और कंपनी का एमकैप (Alibaba MCap) 28 बिलियन डॉलर यानी 2.06 लाख करोड़ रुपये कम हो गया.

सरकारी चैनल की इस खबर से फैला भ्रम

दरअसल चीन के सरकारी चैनल CCTV पर एक खबर आई कि हांगझोउ (Hangzhou) प्रांत में ‘मा’ सरनेम वाले एक व्यक्ति को पुलिस ने अरेस्ट किया है. हांगझोउ ही जैक मा का भी मूल शहर है. सीसीटीवी पर चली खबर के अनुसार, ‘मा’ सरनेम वाले व्यक्ति को देश की सुरक्षा को खतरे में डालते हुए इंटरनेट का इस्तेमाल करने के कारण गिरफ्तार किया गया. यह खबर सामने आते ही सब सोचने लगे कि जिस व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है, वह जैक मा ही हैं. चीन की सरकार के साथ जैक मा के बिगड़े संबंध के चलते भी लोगों के दिमाग में यही बात सामने आई.

कयासों के चक्कर में कंपनी को नुकसान

इसके बाद इन्वेस्टर डर के मारे अलीबाबा के शेयर बेचने लग गए. अचानक हुई बिकवाली से अलीबाबा के शेयर का भाव 9.4 फीसदी तक टूट गया. इस कारण कंपनी को एमकैप के मामले में करीब 27 बिलियन डॉलर का नुकसान उठाना पड़ गया. निक्की एशिया (Nikkei Asia) की एक रिपोर्ट के अनुसार, अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग (Alibaba Group Holding) के शेयरों को औंधे मुंह गिराने वाली खबर बुधवार को चीन में सनसनी बनी रही. लोग यही मानने लग गए कि जैक मा ही गिरफ्तार हुए हैं.

चीन में काफी पॉपुलर है ‘मा’ सरनेम

हालांकि बाद में सीसीटीवी ने अपनी खबर को सुधारा. अपडेटेड रिपोर्ट में चीन के सरकारी चैनल ने हांगझोउ पुलिस के हवाले से बताया कि ‘मा’ सरनेम वाले जिस व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है, उसके नाम में तीन कैरेक्टर हैं. रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि गिरफ्तार हुआ व्यक्ति चीन की एक टेक कंपनी में हार्डवेयर रिसर्च डाइरेक्टर है. इस सफाई के बाद जैक मा की गिरफ्तारी के कयासों पर थोड़ी लगाम लगी. आपको बता दें कि ‘मा’ चीन का 13वां सबसे लोकप्रिय सरनेम है. अकेले हांगझोउ शहर में ही ‘मा’ सरनेम वाले 1 लाख से ज्यादा लोग रहते हैं.

 

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Prachand.in. Publisher: Aajtak News

[ad_2]

Source link

Leave a Comment