कानपुर:-राष्ट्रीय शर्करा संस्थान के छात्र सीख रहे हैं 38 प्रकार की शक्कर बनाने की तकनीक

[ad_1]

रिपोर्ट :- अखंड प्रताप सिंह ,कानपुर
जब हम शक्कर की बात करते हैं तो घर में इस्तेमाल होने वाली चीनी ही दिमाग में आती है.जबकि कानपुर का राष्ट्रीय शर्करा संस्थान अपने छात्र-छात्राओं को 38 प्रकार की शक्कर बनाना सिखा रहा है.इतना ही नहीं यह संस्थान चीनी उद्योग से जुड़े उद्योगों को भी चीनी तैयार करने में तकनीकी मदद पहुंचाने और उद्योग को कैसे बढ़ावा दिया जा सके इस पर भी काम कर रहा है.अब कई प्रकार की शक्कर का निर्माण चीनी उद्योग द्वारा किया जा रहा है.जिसमें मुख्य रुप से क्यूब शुगर,बेवरेज शुगर,प्लेवर्ल्ड शुगर,आइसिंग शुगर ,फार्मास्युटिकल शुगर,हेल्थी शुगर, व्हाइट शुगर, रॉ शुगर ,कैंडी शुगर,रिफाइंड शुगर शामिल हैं.इनके अलावा उपयोग के हिसाब से कई और तरह की शुगर भी बनाने को लेकर शोध किया जा रहा है.राष्ट्रीय शर्करा संस्थानके निदेशक प्रोफ़ेसर नरेंद्र मोहन ने बताया कि अब चीनी उद्योग काफी तरक्की कर रहा है.कई तकनीकी इसमें उपयोग की जा रही है कानपुर में राष्ट्रीय शर्करा संस्थान अपने छात्रों को 38 प्रकार की शक्कर बनाने की तकनीक सिखा रहा है.

तकनीक के साथ पैकेजिंग पर भी दिया जा रहा है जोर
कोरोना काल ने लोगों के जीवन में कई बदलाव ला दिए हैं.इसी प्रकार से उद्योग जगत में भी कई बदलाव आए हैं.अब लोग खुली चीजों की जगह पैक्ट चीजों को ज्यादा पसंद कर रहे हैं.इसीलिए अब लोग पैकेज शुगर की मांग ज्यादा कर रहे हैं.जिसको देखते हुए संस्थान में छात्रों को शक्कर बनाने की तकनीक के साथ-साथ पैकेजिंग भी सिखाई जा रही है.छात्रों को प्रैक्टिकल वर्क के तौर पर यह सिखाया जाएगा कि वह किस तरीके से शक्कर की पैकेजिंग कर सकते हैं. निदेशक प्रोफ़ेसर नरेंद्र मोहन ने बताया कि उनके संस्थान का मकसद है कि जब छात्र-छात्राएं यहां से पढ़ कर निकले तो उन्हें इस उद्योग से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी हो.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 26, 2022, 15:30 IST

[ad_2]

Source link

Leave a Comment