Card Less Atm Cash Withdrawal To Be Available At Atms Soon Know How It Works And Charges Rules

[ad_1]

Without ATM Withdrawal: बैंकिंग सेवाओं को आसान बनाने के लिए रिजर्व बैंक (RBI) लगातार कई अहम कदम उठा रहा है. ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं देने की इसी कड़ी में अब सभी बैंकों के एटीएम (ATM) से डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के बिना ही पैसे निकालने की सुविधा मिलने लगेगी. ऐसे में अब वो दिन दूर नहीं जब एटीएम से पैसे निकालने के लिए साथ में कार्ड रखने की जरूरत ही खत्म हो जाएगी. यही नहीं कार्ड क्लोनिंग के जरिए डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड फ्रॉड को भी रोका जा सकेगा.

हालांकि, कुछ बैंक अभी भी कार्डलेस कैश विड्रॉल की सुविधा दे रहे हैं लेकिन ग्राहक सिर्फ अपने बैंक के एटीएम से ही ऐसा कर सकते हैं. दूसरे बैंक के एटीएम से पैसा निकालने पर यह सुविधा नहीं मिलती है. मगर अब ऐसा जल्दी शुरू हो जाएगा.

आरबीआई का सर्कुलर

रिजर्व बैंक की तरफ से 19 मई, 2022 को एक सर्कुलर जारी कर सभी बैंकों से यह सुविधा जल्द शुरू करने को कहा गया है. सर्कुलर में आरबीआई ने कहा है कि सभी बैंक, ATM नेटवर्क और व्हाइट लेबल एटीएम ऑपरेटर्स (WLAOs) अपने एटीएम पर इंट्रॉपरेबल कार्डलेस कैश विड्रॉल (ICCW) की सुविधा उपलब्ध कराएं.

वहीं, एनपीसीआई (NPCI) को सभी बैंकों और एटीएम नेटवर्क के साथ यूनिफाइनड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के इंटीग्रेशन की सलाह दी है. दरअसल बिना कार्ड नगद निकासी की प्रक्रिया में यूपीआई का इस्तेमाल ग्राहकों की पहचान प्रमाणित (कस्टमर ऑथराइजेशन) करने के लिए किया जाएगा जबकि सेटलमेंट नेशनल फाइनेंशियल स्वीच/ATM नेटवर्क के जरिए होगा.

नगद निकाल सकेंगे

रिजर्व बैंक ने कहा है कि इस तरह के लेन-देन पर अलग से कोई शुल्क नहीं लगेगा. पहले से निर्धारित इंटरचेंज फीस और कस्टमर फीस के अलावा कोई अन्य शुल्क नहीं लगेगा. वहीं कार्डलेस ट्रांजेक्शन में पैसे निकालने की सीमा नियमित एटीएम विड्रॉल की तरह ही होगी. इसका मतलब यह हुआ कि अभी कार्ड से जितना नगद निकालने की सीमा है कार्डलेस ट्रांजेक्शन की भी वही सीमा रहेगी. ट्रांजेक्शन फेल होने पर मुआवजे का नियम पहले की ही तरह लागू रहेगा.

कितना है चार्ज

अभी ग्राहक अपने बैंक के एटीएम से मुफ्त में 5 ट्रांजैक्शन कर सकते हैं. जबकि दूसरे बैंकों के एटीएम से मेट्रो शहरों में मुफ्त में 3 ट्रांजैक्शन और गैर-मेट्रो शहरों में 5 मुफ्त ट्रांजैक्शन कर सकते हैं. मुफ्त सीमा के बाद ट्रांजेक्शन करने पर बैंक 21 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन फीस वसूलते हैं. कार्डलेस ट्रांजैक्शन में भी यही नियम लागू रहेगा.

केंद्रीय बैंक ने अप्रैल, 2022 की अपनी पॉलिसी रिव्यू मीटिंग में सभी बैंकों के एटीएम से यूपीआई के जरिए कार्डलेस कैश निकालने की सुविधा शुरू करने का प्रस्ताव रखा था. इससे न सिर्फ डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से होने वाले फ्रॉड को रोकने में मदद मिलेगी बल्कि कार्ड को साथ में लेकर चलने के झंझट से भी मुक्ति मिलेगी.

ये भी पढ़ें

Bedroll Facility: रेलवे यात्रियों कृपया ध्यान दें! इस तारीख से सभी ट्रेनों में मिलेगी बेडरोल की सुविधा

BNPL: फ्लाइट और होटल बुकिंग करने के लिए Book Now Pay Later की सुविधा का उठाएं लाभ, किस्तों में चुकाएं बिल!

[ad_2]

Source link

Leave a Comment