Crude Oil Production Declined By One Percent In April 2022

[ad_1]

Crude Oil Production: देश में अप्रैल महीने में कच्चे तेल (Crude oil) के प्रोडक्शन में गिरावट देखने को मिली है. पिछले महीने कच्चे तेल का उत्पादन 1 फीसदी गिरकर 24.7 लाख टन रह गया. बता दें इसका कारण निजी कंपनियों के तेल क्षेत्रों से उत्पादन में कमी है. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने आंकड़ा जारी कर इस बारे में जानकारी दी है. 

पिछले साल की तुलना में कम हुआ प्रोडक्शन
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में अप्रैल महीने में 24.7 लाख टन कच्चे तेल का उत्पादन हुआ. एक साल पहले इसी महीने में यह 25 लाख टन रहा था.

ONGC ने कितना किया उत्पादन?
ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) ने अप्रैल में 16.5 लाख टन कच्चे तेल का उत्पादन किया था. यह कंपनी के निर्धारित लक्ष्य से करीब पांच फीसदी ज्यादा है. इसके साथ ही यह पिछले साल के इसी माह के 16.3 लाख टन के उत्पादन के मुकाबले 0.86 फीसदी ज्यादा है.

7.5 फीसदी घटा प्रोडक्शन
ऑयल इंडिया लिमिटेड ने आलोच्य महीने में 3.6 फीसदी अधिक कच्चे तेल का उत्पादन किया. इस दौरान कंपनी ने 2,51,460 टन कच्चे तेल का उत्पादन किया. दूसरी तरफ प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों के तेल क्षेत्रों से उत्पादन इस दौरान 7.5 फीसदी घटकर 5,67,570 टन रहा.

उत्पादन पर फोकस कर रही सरकार
सरकार आयात पर निर्भरता कम करने के लिये तेल एवं गैस के घरेलू उत्पादन को बढ़ाने पर ध्यान दे रही है. भारत अपनी कुल कच्चे तेल की जरूरत का 85 फीसदी और प्राकृतिक गैस का करीब आधा हिस्सा आयात करता है.

जारी हो गए आंकड़े
आंकड़ों के मुताबिक, प्राकृतिक गैस का उत्पादन अप्रैल महीने में 6.6 फीसदी बढ़कर 2.82 अरब घनमीटर रहा. इसका मुख्य कारण पूर्वी अपतटीय क्षेत्र में उत्पादन का बढ़ना है. इसी क्षेत्र में रिलायंस इंडस्ट्रीज और बीपी का केजी-डी6 ब्लॉक स्थित है. वहीं, ओएनजीसी का प्राकृतिक गैस का उत्पादन एक फीसदी घटकर 1.72 अरब घनमीटर रहा जबकि पूर्वी अपटीय क्षेत्र में उत्पादन 43 फीसदी उछलकर 60 करोड़ घनमीटर रहा. आंकड़ों में यह नहीं बताया गया है कि किस क्षेत्र से कितना उत्पादन हुआ है.

मांग बढ़ने के साथ रिफाइनरी कंपनियों का तेल प्रसंस्करण अप्रैल महीने में 8.5 फीसदी बढ़कर 2.16 करोड़ टन रहा. सार्वजनिक क्षेत्र की तेल रिफाइनरी कंपनियों ने 12.8 फीसदी अधिक कच्चे तेल को ईंधन में बदला. वहीं, निजी और संयुक्त क्षेत्र की इकाइयों का प्रसंस्करण 1.8 फीसदी अधिक रहा.

यह भी पढ़ें:
Indian Railways: बड़ी खबर! 1 जून से रेलवे करने जा रहा बड़ा बदलाव, आपने भी करा रखा है रिजर्वेशन तो जल्दी करें चेक

IDFC Bank ने ग्राहकों को दी बड़ी खुशखबरी, बैंक एफडी पर मिलेगा 1 फीसदी ज्यादा ब्याज

[ad_2]

Source link

Leave a Comment