Elon Musk ने यूं बदला प्लान, अब इंडिया नहीं आएगी Tesla?

[ad_1]

टेस्ला के इंडिया आने की संभावनाएं अब लगभग खत्म होती दिख रही हैं. एलन मस्क ने इन कारों की भारत में बिक्री को लेकर प्लान में काफी कुछ चेंज किया है. पढ़ें ये खबर…

भारत में लोगों को Tesla की इलेक्ट्रिक कारों का लंबे समय से इंतजार है. लेकिन अब हो सकता है कि ये कारें या तो इंडिया आएं ही नहीं या फिर बहुत देर से आएं, क्योंकि Elon Musk ने इन गाड़ियों को इंडियन मार्केट में बेचने के प्लान को फिलहाल टाल दिया है.

शोरूम की तलाश की बंद, टीम शिफ्ट

रॉयटर्स की एक खबर के मुताबिक  Tesla Inc. ने इंडिया में अपनी कारों के शोरूम के लिए जगह तलाशने का काम बंद कर दिया है. साथ ही यहां काम कर रही अपनी टीम के कई लोगों को नई जिम्मेदारियां सौंप दी है. इस मामले की जानकारी रखने वाले तीन लोगों के हवाले से रॉयटर्स ने कहा है कि टेस्ला इंक ने अपनी इंडिया की पूरी योजना को फिलहाल के लिए होल्ड पर रख दिया है.

सालभर से बना है इंपोर्ट ड्यूटी पर गतिरोध

टेस्ला और सरकार के बीच आयात शुल्क घटाने को लेकर लंबे समय से बातचीत अटकी हुई है. अब इस डेडलॉक को लगभग सालभर से ज्यादा समय बीत चुका है.  एलन मस्क चाहते हैं कि भारत में टेस्ला की फैक्टरी लगाने से पहले सरकार उन्हें बनी बनाई इलेक्ट्रिक कारों को इंडिया लाने पर आयात कर में छूट दे, ताकि वह इंडियन मार्केट में अपनी कारों की डिमांड और रिस्पांस टेस्ट कर सकें.

जबकि सरकार अलग-अलग मंच से साफ कर चुकी है कि अगर टेस्ला को इंडिया में कार बेचनी है तो उसे यहां फैक्टरी लगानी होगी और वो इसके लिए सरकार की PLI Scheme का लाभ उठा सकती है. चीन में बनी Tesla Cars के लिए भारत में कोई जगह नहीं है.

तय की थी 1 फरवरी की डेडलाइन

रॉयटर्स का कहना है कि टेस्ला ने कारों की इंडिया में लॉन्चिंग के लिए कंपनी ने 1 फरवरी की डेडलाइन तय की थी. इसी दिन भारत सरकार अपना सालाना बजट पेश करती है. कंपनी देखना चाहती थी कि क्या भारत सरकार बजट में टैक्स को लेकर कोई बदलाव करती है या नहीं, और उसकी लॉबिइंग काम आती है या नहीं. ऐसा नहीं होने पर कंपनी ने Tesla Cars को इंडिया लाने के प्लान को होल्ड कर दिया है.

हालांकि टेस्ला की ओर से इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं की गई है.

Elon Musk कर चुके हैं ‘दिक्कतों’ की बात

इस पूरे वाकये को लेकर एलन मस्क ने ‘भारत सरकार के साथ आ रही दिक्कतों’ वाला एक ट्वीट किया था. इसके बाद कई राज्य सरकारों ने उन्हें अपने यहां प्लांट लगाने का न्यौता दिया था. इसमें पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, पंजाब, महाराष्ट्र और तमिलनाडु शामिल हैं.

कुछ दिन पहले ही दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने एक ट्वीट में एलन मस्क से कहा था, ‘हे एलन मस्क, अगर आप ट्विटर को खरीदने का काम पूरा नहीं कर पाएं, तो उस पूंजी का कुछ हिस्सा इंडिया में निवेश कर सकते हैं. आप यहां Tesla Cars की एक बड़ी और हाई-क्वालिटी फैक्टरी लगा सकते हैं. मैं आपको भरोसा दिला सकता हूं कि ये आपका अब तक का सबसे बढ़िया इन्वेस्टमेंट होगा.’

अटकी Twitter Deal भी

एलन मस्क के ट्विटर डील को भी होल्ड पर डालने की खबर है. हालांकि ये डील हमेशा के लिए नहीं रोकी गई है, बल्कि उन्होंने इसे टेम्परेरी तौर पर होल्ड किया है. मस्क ने ट्विटर डील को होल्ड करने की वजह स्पैम बताई है. मस्क ने पिछले महीने की शुरुआत में 44 अरब डॉलर में ट्विटर को खरीदने की डील की थी.

उन्होंने ट्वीट करते हुए जानकारी दी है कि ट्विटर डील को टेम्परेरी तौर पर होल्ड पर डाल दिया गया है. दरअसल, ट्विटर ने एक फाइलिंग में जानकारी दी थी कि उनके प्लेटफॉर्म पर सिर्फ 5 परसेंट ही स्पैम/ फेक अकाउंट हैं. इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 22.9 करोड़ यूजर्स हैं. 

 

 

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Prachand.in. Publisher: Aajtak News



[ad_2]

Source link

Leave a Comment