Government Scheme: ‘पीएम नारी शक्ति योजना’ के तहत सरकार दे रही 2 लाख 20 हजार रुपये नकद और 25 लाख का लोन, जानें क्या है सच?

[ad_1]

PIB Fact Check: केंद्र सरकार ‘प्रधानमंत्री नारी शक्ति योजना’ (Pradhan Mantri Nari Shakti Yojana) के तहत 2 लाख 20 हजार रुपये नकद दे रही है… इसके साथ ही आपको 25 लाख तक का लोन भी मिल रहा है.

PIB Fact Check: केंद्र सरकार (Governmet Scheme) ‘प्रधानमंत्री नारी शक्ति योजना’ (Pradhan Mantri Nari Shakti Yojana) के तहत 2 लाख 20 हजार रुपये नकद दे रही है… इसके साथ ही आपको 25 लाख तक का लोन भी मिल रहा है. एक यूट्यूब वीडियों (Youtube Video) में यह जानकारी दी जा रही है. अगर आपने भी ये वीडियो देखा है या फिर शेयर किया है तो जान लें कि क्या सच में आपके खाते में ये पैसा आने वाला है. PIB ने ट्वीट करके इसके बारे में बताया है. 

PIB ने किया ट्वीट
PIB ने अपने ऑफिशियल ट्वीट पर लिखा है कि एक YouTube वीडियो में यह दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी महिलाओं को ‘प्रधानमंत्री नारी शक्ति योजना’ के तहत 2 लाख 20 हजार रुपये की नकद धनराशि और साथ ही ₹25 लाख तक का लोन दे रही है.

फर्जी है ये दावा
पीआईबी की ओर से किए गए फैक्ट चेक से पता चला है कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है. केंद्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है. अगर आपको सरकार की किसी भी योजना की जानकारी लेनी है तो आप ऑफिशियल वेबसाइट पर ही विजिट करें. 

इस तरह के मैसेज से रहें सावधान
पीआईबी ने फैक्ट चेक के बाद में इस मैसेज को पूरी तरह से फर्जी बताया है. पीआईबी ने बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस तरह के मैसेज से सभी लोग सावधान रहें. पीआईबी ने लोगों से ऐसे मैसेज को आगे फॉरवर्ड नहीं करने को कहा. ऐसे मैसेज के बहकावे में आकर आप अपनी निजी जानकारी और पैसों को खतरे में डालते हैं.

आप भी करा सकते हैं फैक्ट चेक
अगर आपके पास में भी कोई इस तरह का मैसेज आता है तो आप उसकी सच्चाई के बारे में पता लगाने के लिए फैक्ट चेक करा सकते हैं. आप पीआईबी के जरिए फैक्ट चेक करा सकते हैं. इसके लिए आपको ऑफिशियल लिंक https://factcheck.pib.gov.in/ पर विजिट करना है. इसके अलावा आप वॉट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भी वीडियो भेज सकते हैं. 

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Prachand.in. Publisher: ABP News



[ad_2]

Source link

Leave a Comment