Government Scheme: 7 साल की हुईं पीएम मोदी द्वारा शुरू की गईं इन सामाजिक सुरक्षा योजनाएं की आज क्या है स्थिति?

[ad_1]

Government Scheme: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 मई 2015 को तीन सामाजिक सुरक्षा योजनाएं लॉन्च की थी. प्रधानमंत्री बीमा और पेंशन योजनाओं में अब तक बड़ा बदलाव आ गया है.

Government Scheme: प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) और अटल पेंशन योजना (APY) जैसी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के 7 वर्ष पूरे हो चुके हैं. पीएमजेजेबीवाई, और पीएमएसबीवाई कम लागत वाली बीमा योजनाएं हैं. जबकि एपीआई वृद्धावस्था में जरूरतों को कवर करने वाली एक पेंशन योजना है. ये सभी योजनाएं प्रधानमंत्री ने 9 मई 2015 को लॉन्च किया था. आइए देखते हैं कि अब तक इन योजनाओं ने क्या बदला है?

जीवन ज्योति बीमा योजना

PMJJBY एक साल की जीवन बीमा योजना है. इसका हर साल नवीकरण किया जाता है और किसी भी कारण से मृत्यु पर आर्थिक मदद दी जाती है. 18-50 वर्ष के आयु वर्ग के वह व्यक्ति जिनके पास बैंक या डाकघर में बचत खाता है वह इस योजना के तहत नामांकन के लिए पात्र हैं. यह एक प्रीमियम आधारित योजना है और 50 वर्ष की आयु से पहले इसमें शामिल होने वाले लोग 55 वर्ष की आयु तक इस कवर का लाभ ले सकते हैं.

इसी हफ्ते वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि 27 अप्रैल, 2022 तक योजना के तहत नामांकन 12.76 करोड़ से अधिक हो गया है और 5,76,121 दावों के लिए 11,522 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. इस योजना के तहत प्रति वर्ष 330 रुपये के प्रीमियम पर 2 लाख रुपये का मुआवजा मृत्यु के बाद दिया जाता है.

सुरक्षा बीमा योजना

PMSBY एक साल की दुर्घटना बीमा योजना है. इसका भी साल-दर-साल नवीनीकरण किया जाता है और दुर्घटना के कारण मृत्यु या विकलांगता के लिए कवरेज की पेशकश की जाती है. बैंक या डाकघर में बचत खाता रखने वाले 18-70 वर्ष के आयु वर्ग के व्यक्ति इस योजना के तहत नामांकन के लिए पात्र हैं.

दुर्घटना के कारण मृत्यु या विकलांगता के लिए 2 लाख रुपये (आंशिक विकलांगता के मामले में 1 लाख रुपये) दिए जाने का प्रावधान है. मंत्रालय के आंकड़ों को मुताबिक 27 अप्रैल, 2022 तक योजना के तहत नामांकन 28.37 करोड़ से अधिक हो गया है और 97,227 दावों के लिए 1,930 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान भी किया गया है.

अटल पेंशन योजना

APY सभी भारतीयों खास तौर पर गरीबों, वंचितों और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक सार्वभौमिक सामाजिक सुरक्षा प्रणाली बनाने के लिए शुरू की गई थी. यह असंगठित क्षेत्र के लोगों के लिए वित्तीय सुरक्षा देने और उनकी भविष्य की जरूरतों को कवर करने के लिए सरकार की एक पहल है. एपीवाई को राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के प्रशासनिक और संस्थागत ढांचे के तहत पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकर द्वारा प्रशासित किया जाता है.

अटल पेंशन योजना 18 से 40 वर्ष के आयु वर्ग के सभी बैंक खाताधारकों के लिए खुली है. हालांकि, चुनी गई पेंशन राशि के आधार पर योगदान भिन्न होता है. योजना में शामिल होने के बाद लाभार्थी द्वारा किए गए योगदान के आधार पर उसे 60 साल की उम्र में 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये, 5,000 रुपये की न्यूनतम मासिक का प्रावधान है. 27 अप्रैल, 2022 तक 4 करोड़ से अधिक लोगों ने इस योजना की सदस्यता ली है.

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Prachand.in. Publisher: ABP News

[ad_2]

Source link

Leave a Comment