Metal And Steel Companies Shares Saw Biggest Crash At Stock Exchanges After Government Increasing Export Tax

[ad_1]

Big Fall In Metal Shares: सोमवार को शेयर बाजार में मेटल्स सेक्टर ( Metal Sector) के शेयरों की जबरदस्त पिटाई हुई. दरअसल शनिवार को केंद्र सरकार ने स्टील के निर्यात ( Steel Export) पर  नकेल कसने के लिए एक्सपोर्ट ड्यूटी में बढ़ोतरी करने का ऐलान कर दिया जिसके चलते स्टॉक एक्सचेंज पर मेटल्स सेक्टर के शेयरों में भारी मुनाफावसूली देखी गई. 

औंधे मुंह गिरे स्टील कंपनियों के शेयर्स
सरकार के इस फैसले के बाद जिंदल स्टील एंड पावर ( Jindal Steel & Power) का शेयर 17.47 फीसदी गिरकर 395 रुपये पर बंद हुआ जो कि जनवरी 2008 के बाद शेयर में सबसे बड़ी गिरावट है. टाटा स्टील ( Tata Steel) का शेयर 12.24 फीसदी की गिरावट के साथ 1027 रुपये पर क्लोज हुआ. वहीं JSW Steel का शेयर 13.21 फीसदी की गिरावट के साथ 547.50 रुपये पर बंद हुआ है. सरकारी क्षेत्र की कंपनी सेल भी 11 फीसदी गिरकर 73.95 रुपये पर बंद हुआ है. NMDC का शेयर 10 फीसदी तो वेंदाता का शेयर 6 फीसदी और हिंडाल्को का शेयर 5 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है. 

ब्रोकरेज हाउस का नेगेटिव रुख
मेटल्स स्टॉक में गिरावट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि निफ्टी का मेटल इंडेक्स 8.14 फीसदी की गिरावट के बाद 5,241 पर किलोज हुआ है. मेटल्स सेक्टर के शेयरों में रूस यूक्रेन युद्ध के बाद से बड़ी तेजी देखी जा रही है. लेकिन सरकार द्वारा एक्सपोर्ट ड्यूटी लगाये जाने के बाद ब्रोकरेज हाउस का रुख स्टील सेक्टर पर बहुत नकारात्मक हो चुका है. इंडस्ट्री बॉडी Engineering Export Promotion Council (EEPC) के मुताबिक सरकार के फैसले के चलते स्टील के दामों में 15 फीसदी कर की कमी आ सकती है. 

सरकार ने बढ़ाया एक्सपोर्ट ड्यूटी
दरअसल सरकार ने 21 मई को लोह अयस्क पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया. तो कुछ स्टील के जुड़े चीजों पर 15 फीसदी ड्यूटी बढ़ा दिया है जिससे घरेलू बाजार में इनकी उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके. 

ये भी पढ़ें

Railway Concession to Senior Citizen: इस सांसद ने की रेल मंत्री से बुजुर्गों के लिए रेल सफर में रिआयती टिकट शुरू करने की मांग

Petrol Diesel Price: मई 2014 से लेकर अब तक कच्चे तेल के दाम जस का तस, लेकिन पेट्रोल डीजल 34 से 61 फीसदी हुआ महंगा!

[ad_2]

Source link

Leave a Comment